Sunday, 4 December 2016

GRAND PARENTS DAY CELEBRATION

केंद्रीय विद्यालय न. 2, वायु सेना स्थल, पुणे
प्रतिवेदन
ग्रैंड पेरेंट्स डे
दिनांक  22 अक्टूबर 2016                          स्थल: योग कक्ष
नयूनतम साँझा कार्यक्रम के अंतर्गत शनिवार 22 अक्टूबर 2016 को विद्यालय में ग्रैंड पेरेंट्स डे का भव्य आयोजन किया गया |
प्राथमिक विभाग के छात्र और छात्राओं  ने परंपरागत वेशभूषा में सभी बुजुर्ग अतिथियों को लाल टिका लगाकर और गुलाब देकर स्वागत किया | श्रीमती रंधीर शेट्टी और श्रीमती सुषमा सोनार की निगरानी में बच्चों ने इस कार्य को किया |
इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री. केकनजी का भी लाल टिका लगाकर और गुलाब देकर बच्चों ने स्वागत किया | प्राचार्य, उप-प्राचार्य और मुख्य-अध्यापक ने मिलकर मुख्य अतिथि का योग कक्ष तक मार्गदर्शन किया |  तत्पश्चात सभी ने दीप प्रज्वलन कर वातावरण को प्रकाशित और सुगन्धित कर दिया | हमारे छोटे गायकों ने संगीत अध्यापक के नेतृत्व में ग्रैंड पेरेंट्स के लिए सुंदर स्वागत गीत प्रस्तुत किया | श्री केकन सहित प्राचार्य, उप-प्राचार्य और मुख्य-अध्यापक को पुष्प-गुच्छ प्रदान किया | प्राचार्य ने सभा में उपस्थित अतिथियों का औपचारिक रूप से स्वागत किया और विद्यालय में ग्रैंड पेरेंट्स डे मनाने के औचित्य को बताया | आज कल की व्यस्त जिंदगी में जहाँ माता-पिता दोनों ही काम की वजह से घर से बाहर रहते है, वहाँ बच्चों की देखभाल के लिए दादा-दादी और नाना-नानी की जरुरत होती है |
तत्पश्चात प्राथमिक कक्षा के नन्हें-मुन्हें बच्चों ने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किया और सभी का मन मोह लिया | इस कार्यक्रम के अंतर्गत एक लुभावना समूह गीत और तीन आकर्षक समूह नृत्यों का समावेश किया गया | इन नृत्यों का निर्देशन श्रीमती दीपिका कुलकर्णी, दीपा ढेमरे और श्रीमती पुष्पा  और गायन का निर्देशन श्री निखिल केसरवानी ने किया |
मनोरंजन के दूसरे सत्र में विविध खेलों का आयोजन किया गया | जिसके अंतर्गत छोटी छोटी प्लास्टिक की गेंदों को खींचे पंक्तियों के अंदर लुढ़काना, गाने की धुन सुनकर   गाना पहचानना, गाने का नाम बताना और गीत गाना आदि खेल शामिल किये गये| इन खेलो की रचना और निर्वाहन श्रीमती सुषमा सोनार और यशोधरा ने बहुत ही सुचारू रूप से किया| हर खेल के प्रत्येकी तीन विजेताओं को मुख्य अतिथि द्वारा पुस्तकें देकर पुरस्कृत किया गया|
सभा में उपस्थित ग्रैंड पेरेंट्स में से दो अतिथियों ने गीत गाकर अपने विचार प्रकट किये | मुख्य अतिथि ने भी अत्यंत सरल शब्दों में सभा को संबोधित करते हुए यह आग्रह किया कि बच्चों के निरागस स्वभाव और बदलते समय के अनुरूप स्वयं को ढालना चाहिए| और नाती-पोती के समक्ष अपना व्यवहार निष्पक्ष और आदर्शपूर्वक रखने की कोशिश करनी चाहिये| फिर सभा के अंत में श्रीमती सुनीता जे. के. ने सभी अतिथियों का तहे दिल से धन्यवाद ज्ञापन किया |
पूरे कार्यक्रम को श्रीमती मिनी दास द्वारा अंग्रेज़ी में और श्रीमती समिधा द्वारा हिंदी में खुबसुरत तरीके से सूत्र संचालन किया | इस संचालन के दौरान अतिथियों से संवाद साधते हुए उन्हें उपयुक्त जानकारी देना, शेरो-शायरी से समां बांधना या किसी गहन बात पर उन्हें विचार करने के लिए प्रवृत करना आदि कार्य बहुत ही बखूबी से निभाया | आसन व्यस्था का कार्यभार श्रीमती रजनी कुमारी द्वारा, ध्वनिक्षेपण का आयोजन श्रीमती नादराजन और निखिल केसरवानी द्वारा, मंचसज्जा व दीप-प्रज्वलन की पूर्व तैयारी श्रीमती सुषमा देशपांडे और गुरप्रीत कौर द्वारा बहुत ही कुशलपूर्वक और कलात्मक ढंग से किया गया | श्रीमती हरजीत कौर बिंद्रा और दीपा चौधरी ने बड़े ही प्यार से अभ्यागतों की खातिरदारी और मेहमान-नवाजी का दायित्व निभाया | स्वादिष्ट पोहे तथा गरम चाय का आस्वाद लेकर सभा का समापन हुआ | इन सभी कार्यक्रमों के खुबसूरत पलों को यादगार बनाने का कार्य श्रीमती यशोधरा और श्री अविनाश ने किया | हर वक़्त बच्चों को अनुशासन में रखने का कार्य श्री गोरख मुसले जी ने किया |

सभी ग्रैंड पेरेंट्स को निमंत्रण पत्र बाँटने व सारे कार्यक्रमों के बीच समन्वय स्थापित करने का कार्यभार श्रीमती सुनीता जे. के ने संभाला | श्री संजय पाटील जी ने अपने सुझावों और निरंतर मार्गदर्शन द्वारा इस पूरे कार्य को सफल और सुचारू ढंग से प्रस्तुत करने में सबको सहयोग दिया | मुख्याध्यापक तथा सभी प्राथमिक शिक्षको ने कार्यकम को यशस्वी बनाने हेतु भरसक प्रयास किया और वे सभी बधाई व प्रशंसा के पात्र हैं |

No comments:

Post a Comment